Tuesday, 11 August 2009

ये ब्लोगर कौन हैं ? (बताइए)

इस ब्लोगर पहचान पहेली में प्रति दिन भाग लेकर विजेता बनें और ३० ब्लोगों के जारी हो जाने पर बनें दो पुरस्कारों के विजेता प्रथम पुरस्कार- 1500/- द्वितीय पुरस्कार- 1100, /- ( ब्लॉग रात नौ-से -दस बजे के बीच जारी होगा!)----------------------------------------बताइए ये ब्लोगर कौन हैं ?-----------------------------
-------------------------------------------------------
पहेली- 10 का सही हल- श्री अविनाश वाचस्पति
-------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------
खेद है की आज हम इन्तजार करते रह गए पर अंतिम समय तक भी सही जवाब प्राप्त नहीं हुआ! (आज विजेता कोई नहीं)
-------------------------------------------------------
सभी दोस्तों से आग्रह है की केवल फर्ज अदायगी न करें, ब्लॉग में दिलचस्पी लें, ध्यान से चेहरे को पहचानने की चेष्टा करें, ये ब्लॉग आप सभी का है इस ब्लॉग पर कुछ देर प्रतिदिन आकर थोडा हंस-बोल लें, मन खुश हो जाये तभी जाना, मेरा तो यही मानना है- प्यार बांटते चलो। .प्यार बांटते चलो, क्या हिदू क्या मुसलमान,हम सब हैं भाई-भाई..प्यार बांटते चलो...आप सभी का आभार !
-------------------------------------------------------
इस ब्लॉग के प्रति जो प्यार आपका मिल रहा है वही मेरी पूँजी है, आप सभी का अत्यंत आभार !------------------------------------------------
(कुल प्राप्त टिप्पणियां - 18)
----------------------------------------------------

33 comments:

  1. नमस्कार,वर्माजी! ब्लोग्वानी में छोड़ने से पहले ही आपने धडाक से टिपिया दिया...:) :) यही तो है आपका आपार स्नेह इस ब्लॉग के लिए ...आभार !

    ReplyDelete
  2. ये ब्‍लोगर कौन हैं ( ? ) कोष्‍टक के भीतर पहेली नंबर देंगे तो ठीक रहेगा। हम तो कन्‍फ्यूजिया रहे हैं। सभी चित्र दाढ़ी, टोपी, मूंछ, लिपिस्‍टक से भाई बहन ही लग रहे हैं। इससे एक लाभ तो है ब्‍लॉगजगत में भाईगिरी का विकास हो रहा है। दूसरा लाभ इनाम की राशि बच रही है। पहचानने वाले भी शायद इसीलिए कम आ रहे हैं क्‍योंकि आंखों को गोता लगा लगा के भी पहचान नहीं पा रहे हैं। या तो क्‍लू दिया कीजिए या चेहरे पर थोड़ी ड्राइंग कम कीजिए।

    ReplyDelete
  3. मुझे तो अजय सक्‍सेना लग रहे हैं

    ReplyDelete
  4. सुरेश जी
    मेरी निगाह तो ईनाम पर है
    आजकल मुझे टिपिया फ्लू हो गया है.

    ReplyDelete
  5. ऊपर ही तो हिन्ट है :)

    ReplyDelete
  6. कल अविनाश वाचस्‍पति जी ने तो खुद को पहचान लिया था .. उन्‍हें विजेता घोषित क्‍यूं नहीं करते ?

    ReplyDelete
  7. सिद्धार्थ जोशी है क्‍या !!

    ReplyDelete
  8. जय हो अविनाश बाबू की..जीत गये. बधाई!!!

    ReplyDelete
  9. वर्मा सरजी,अच्छा ही तो है..टिपिया फ्लू ही स्वाइन फ्लू का तोड़ है, पूरी ब्लोग्वानी में फैलाइए न..:) :) :) !

    ReplyDelete
  10. जब सूट टाई हमारी है तो हम ही होंगे. उधार तो देते नहीं अपनी सूट और टाई. :)

    ReplyDelete
  11. संगीता बहनजी, आपने सवाल तो जायज ही उठाया है, पर अविनाशजी ने ही दूसरी टिपण्णी को लाक करने को कहा तो हमने लाक कर दिया और आप तो जानती ही हैं की दूसरा जवाब जानबूझ कर गलत दिया गया था, ऐसा करके अविनाशजी ने तो अपनी शान ही बचाई है..:) :) :).

    ReplyDelete
  12. समीर भैया, आप अविनाशजी के पीछे हाथ धोकर क्यों पड़े हो ? उनसे सौतिया डाह है क्या ? :) :) :) सूट और टाई आपकी है क्या?...तो उतार लीजिये न ..:) :) :) :)

    ReplyDelete
  13. अलबेला खत्री भाई, विजेता को बधाई ही देकर छोड़ देते हो, चेहरा पहचानने में टेंशन होती है क्या ?...:) :) :) :)

    ReplyDelete
  14. अविनाश जी, आपके सुझाव पर अमल करेंगे, सुझाव के लिए धन्यवाद !

    ReplyDelete
  15. बिल्‍कुल सही
    यह तो संजय बैंगाणी ही हैं
    उनके गले के नीचे का गुटका देखिए
    बिना हिले बोल रहा है
    बस सुरेश जी ने दांत ही तो छिपाए हैं
    मुंह ही तो बंद किया है
    उसमें लिपिस्टिक भर दी है
    मैं तो कहूंगा पूरी खाली कर दी है
    जेवरात भी पहनाए हैं
    पर अरहर की दाल के
    क्‍यों नहीं बनवाए हैं
    उनकी भौंहे भी राज खोल रही हैं
    एक तिरछी दूसरी सीधी झोल रही हैं
    अब तो गले के गुटकों
    नैन मटक्‍कों से ही पहचानना होगा
    पर सुरेश शर्मा जी आपको
    नंबर तो डालना ही होगा।

    ReplyDelete
  16. अगली बार क्‍यों
    हरकीरत जी
    इस बार की भी बूझो
    लिखो पंकज बैंगाणी

    ReplyDelete
  17. बस भी करो अविनाश भाई....हंसा-हंसा के पेट फाड़ डालोगे क्या....:) :) :) :) :) :) :) :) :) अब तो साँस भी नहीं लिया जा :) :) :) रहा है.....दया करो, समीर भाई भी चुटकी पे चुटकी लिए जा रहे हैं..आज सबका होलियाना मूड है क्या ??????????

    ReplyDelete
  18. आपके इस ब्लॉग को इन्तजार है आपका, ब्लोगर की फोटो पहचान कर पुरस्कार जीतें! प्रति माह १,५००/- व १,१०० का पुरस्कार दिया जाता है,इस ब्लॉग पर रोज आकर सही जवाब दें विजेता बनें !

    ReplyDelete
  19. संजय बेगाणी लग रहे हैं, अविनाश जी को बधाई,

    ReplyDelete
  20. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  21. अविनाश जी को बधाई, संजय बेगाणी जी

    regards

    ReplyDelete
  22. संजय बैंगाणी
    हैं बिल्‍कुल सही। पहचानने में कसर क्‍या रही। गले के गुटके ने सारी कथा कही।
    मैं तो पहली बार आया हूं
    पर बहुत खिलखिलाया हूं
    बहुत मजा आ रहा है
    पर लगता है अलबेला जी बहुत कंजूस हैं
    हर रोज एक नकद इनाम
    क्‍यों नहीं देते हैं
    चाहे घटाकर पांच सौ रुपये
    का ही कर दें इससे उन्‍हें छह सौ रुपये का लाभ ही होगा। विचार करें अलबेला जी, विचार मेरा नवेला जी। जब पहचानें तो हम रोज और नोट पायें सिर्फ एक रोज, यह कैसा रोज (गुलाब) है। अलबेला जी तो आफताब हैं।

    ReplyDelete
  23. अविनाश जी को बधाई ।

    ReplyDelete
  24. आपके इस ब्लॉग को इन्तजार है आपका, ब्लोगर की फोटो पहचान कर पुरस्कार जीतें! प्रति माह १,५००/- व १,१०० का पुरस्कार दिया जाता है,इस ब्लॉग पर रोज आकर सही जवाब दें विजेता बनें !

    ReplyDelete
  25. पक्के से बैगाणी जी ही हैं,उनके माथे पर जो बालों की दो लटें है,वही उनकी पहचान बता रही है।।

    ReplyDelete
  26. पहले नम्बर पर मेरा कमेंट है वहाँ संजय बेंगाणी लिखा माने

    ReplyDelete
  27. विशेष सूचना :~
    यह तभी लागू होगा जब पहला कमेंट गलत होगा

    ReplyDelete
  28. पहली पहली बार आज देखी है यह पहेली. आईडिया तो धांसू है ,पर पहेली बडी फांसू है.

    इस बार तो हमने मान ली है हारी, चलो आप ही हल कर दो ना!!!
    अरविन्द चतुर्वेदी

    ReplyDelete
  29. hum bhi sanjay beganee hee kah dete hain...

    ReplyDelete
  30. क्या पहेली पूछने का समय बदल गया है क्या?

    ReplyDelete